इलाहाबादउत्तर प्रदेशगाज़ियाबाददिल्लीनई दिल्लीमहानगर

पासपोर्ट व्यवस्था को बनाया जा रहा है बेहतर: अनुज स्वरूप

क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय हापुड़ चुंगी पर आवेदक की समस्याओं के निस्तारण के लिए क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी अनुज स्वरूप द्वारा बेहतर व्यवस्था की गई है। जिसके चलते लोगों को अब परेशानी से निजात मिलेगी।
टोकन व्यवस्था के चलते व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने का कार्य पासपोर्ट अधिकारी द्वारा किया जा रहा है। मनस्वी वाणी संवाददाता एमजे चौधरी के पासपोर्ट अधिकारी अनुज स्वरूप से बातचीत के प्रमुख अंश

  1. वॉक इन के जरिए आवेदकों को दिए जा रहे हैं टोकन
  2. सोमवार से गुरुवार तकटोकन व्यवस्था
  3. जी20 में कर चुके हैं भारतका प्रतिनिधित्व
  4. ओमान और अबुधाबी मेंभारत का किया प्रतिनिधित्व
  5. छोटी-छोटी परेशानियों कोलेकर अब आवेदक को
  6. नहीं होगी दिक्कत

प्र.आप ने अभी तक किन- किन पदों पर जिम्मेदारी निभाई है?
उ. पासपोर्ट अधिकारी अनुज स्वरूप ने बताया कि आवेदकों की परेशानियों को दूर करने का कार्य
किया जा रहा है। क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी अनुज स्वरूप वेस्टर्न यूपी से ताल्लुक रखते हैं। 2016
बैच के आईएफएस में चयनित होने के बाद उन्होंने जी20 मे अपनी सेवाएं दी। 2 साल तक अबू धाबी
में सेक्रेटरी के तौर पर भारत का प्रतिनिधित्व किया। वहीं 3 साल तक ओमान में रहकर उन्होंने सेकंड
सेक्रेटरी रहकर भारत का प्रतिनिधि किया। सुलझे हुए अधिकारी के तौर पर उन्हें भारत सरकार में
पहचाना जाता है। इसी बीच उन्होंने बताया कि लोगों की समस्याओं का निस्तारण करने के उद्देश्य
से वॉक इन टोकन व्यवस्था की गई है जिससे सोमवार से गुरुवार तक डेढ़ सौ लोगों को टोकन दिए जाएंगे।
प्र. आवेदक की समस्याओं का कैसे निस्तारण करेंगे?
उ. जानकारी देते हुए बताया कि दलालों का कार्यालय में प्रवेश निषेध है और मेरी आवेदको से
अपील है कि अपने कार्य को खुद करें और खुद कार्यालय पर आकर अपने पासपोर्ट की जानकारी
प्राप्त करें । किसी दलाल के चक्कर में ना आए। आवेदकों की पासपोर्ट से संबंधित समस्याओं का
निस्तारण कार्यालय में किया जा रहा है। और लोगों से अपील की जाती है कि पासपोर्ट फॉर्म भरवाते
समय अपने जन्म स्थान का जिक्र करते हुए वर्तमान में जहां रह रहे हैं वहां के भी कागजों को
शामिल करें । जिससे कि किसी तरह की कोई परेशानी का सामना न करना पड़े। अगर वर्तमान
समय में बिजली का बिल, मोबाइल का पोस्टपेड बिल या रेंट एग्रीमेंट है तो उसको भी सम्मिलित
करें। जिससे कि वेरिफिकेशन होने में कोई दिक्कत ना आए और पासपोर्ट कार्यालय में पासपोर्ट बनाने
में भी आवेदक को परेशानी का सामना न करना पड़े।

प्र. पासपोर्ट के लिए आवेदक काफी परेशान रहते है, इस पर क्या कार्य करेंगे?
उ. हमारा कर्तव्य है कि आवेदकों को किसी तरह की कोई परेशानी ना आए और उन्हें समय से पासपोर्ट भी प्राप्त हो जाए। तत्काल पासपोर्ट कागजातों की वेरिफिकेशन के उपरांत तीन वर्किंग दिन में मिल जाता है। वही नॉर्मल पासपोर्ट कागजात वेरिफिकेशन के अलावा पुलिस वेरिफिकेशन के बाद 30 दिनों के अंदर आवेदक को प्राप्त हो जाताहै। यही हमारा प्रयास है कि आवेदकों को समय पर पासपोर्ट मिल जाए और उन्हें किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े। बशर्ते कागजातों में किसी तरह की कोई नाम पते में
बदलाव ना हो। लिहाजा इस मामले में भी आवेदकों को समझा कर कागजातों को सही
कराने का कार्य भी किया जाता है।

प्र. वॉक इन व्यवस्था क्या हैं और इससे आवेदकों का क्या लाभ होगा?
उ. लम्बित फाइलों के निस्तारण के सम्बंध में क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय द्वारा आॅनलाइन माध्यम से प्रत्येक कार्यदिवस पर 200 पूछताछ सम्बंधी अप्वाइंटमेंट के अतिरिक्त वॉक इन सुविधा शुरू
की गयी है। वॉक इन सुविधा के माध्यम से आवेदकों की लम्बित फाइलों का निस्तारण तेज गति से किया जा रहा है। इसी कारण से वॉक इन सुविधा के लिए आवेदकों की संख्या में निरंतर
वृद्धि भी देखने को मिल रही है। कार्यालय में उपलब्ध सीमित श्रमबल की तुलना में अधिक आवेदक आ जाने के कारण सभी आवेदकों की समस्या का निस्तारण उसी दिन समयबद्ध तरीके से नहीं हो पाता है। जिससे कभी-कभी आवेदकों को भी अनावश्यक रूप से परेशान होना पड़ जाता है। आवेदकों को बेहतर सेवाएं प्रदान करने और लंबे समय तक लाइन में लगकर इंतजार करने से बचने के लिए कार्यालय में वॉक इन सेवा के लिए टोकन मशीन लगाई गयी है। 03.06.2024 से क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय में टोकन मशीन के माध्यम से सोमवार से गुरुवार प्रत्येक कार्य दिवस पर शुक्रवार एवं राजपत्रित अवकाश को छोड़कर प्रात: 10:00 बजे से दोपहर 12:00 बजे तक प्रतिदिन केवल 150 वॉक इन टोकन ही जारी किए जाएंगे। यह व्यवस्था पहले आओ पहले पाओ के सिद्धांत पर कार्य करेगी। टोकन केवल आवेदक को अथवा नाबालिग के सम्बंध में उसके माता-पिता व
अभिभावक को ही दिया जाएगा। टोकन व्यवस्था से आवेदकों को अधिक समय तक लाइन में प्रतीक्षा नहीं करनी होगी एवं आवेदकों की लम्बित फाइल पर कार्यवाही समयबद्ध तरीके से सम्भव हो सकेगी। वरिष्ठ नागरिकों 60 वर्ष से अधिक दिव्यांग व्यक्तियों, जन्मजात शिशुओं आदि जैसे विशेष श्रेणी के आवेदकों को प्रत्येक मंगलवार एवं गुरुवार को प्रात: 10:00 बजे से 11:00 बजे तक विशेष सुविधा भी प्रदान की जाएगी एवं ऐसे आवेदकों को टोकन प्रदान करने में प्राथमिकता प्रदान की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button