डीसीपी नगर के तबादले के बाद कौन बनेगा नगर जोन का कप्तान? एडिशनल ट्रैफिक का भी हुआ तबादला

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा प्रदेश में कानून व्यवस्था को मजबूत रखने के उद्देश्य से आईएएस आईपीएस और पीपीएस व पीसीएस अधिकारियों के तबादले किए जा रहे हैं। हालांकि आने वाले 2024 चुनाव को लेकर भी तबादलों को देखा जा रहा है । इसी कड़ी में गाजियाबाद कमिश्नरेट बनने के बाद डीसीपी नगर के पद पर रहे निपुण अग्रवाल का तबादला हाथरस में पुलिस अधीक्षक के रूप में होने पर डीसीपी नगर का पद खाली है। लिहाजा शासन की तरफ से दो डीसीपी कमिश्नरेट में भेजे गए हैं। जिनमें कल्पना सक्सेना और ज्ञानजंय सिंह तेजतर्रार व अनुभवही आईपीएस में गिनती की जाती है। लिहाजा पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि नगर जोन के कप्तान बनाने के लिए पुलिस कमिश्नर संभावित एक दो दिन में किसी को अप्वॉइंट कर सकते हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की संभावित एक जोन में तैनात डीसीपी को नगर जोन में डीसीपी के पद पर भेजे जाने की आशंका भी बन रही है। तो वही एडिशनल ट्रैफिक पुलिस रामानन्द कुशवाहा का भी तबादला हो जाने के कारण दो पद खाली हो गए हैं। जिन्हें भरने के लिए पुलिस कमिश्नर संभावित एक दो दिन में उन्हें भरने का कार्य करेंगे । फिलहाल निवर्तमान डीसीपी नगर के तीन साल के कार्यकाल का लेकर बात की जाए तो उन्होंने अपने कार्यकाल में बेहतर कार्य किया और कई चैलेंजिंग कार्य को मजबूती से करने का कार्य किया । कमिश्नरेट के तीनों जोन नगर जोन, ट्रांस हिंडन जोन और देहात जोन में क्राइम पर अच्छी पकड़ रखने वाले डीसीपी को तैनात किया गया था और संभावित तीनों जोन में बदलाव होने की आशंका है। क्योंकि एक जोन खाली होने से जहां उसे भरने का कार्य होगा तो वही दोनों जोनों में भी डीसीपी को बदलने की आशंका बन रही है। फिलहाल पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि पुलिस कमिश्नर अजय कुमार मिश्रा कानून व्यवस्था को लेकर मजबूती से कार्य कर रहे हैं और तीनों जोन में डीसीपी लेवल के अधिकारियों को बेहतर तरीके से समझाने बुझाने के अलावा उनकी तैनाती भी कर रहे हैं। लिहाजा तीनों जोन में डीसीपी लेवल के अधिकारियों की अदला-बदली की भी आशंका बन रही है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि संभावित तीनों जोन के डीसीपी भी बदले जा सकते हैं और इधर से उधर डीसीपी को किया जा सकता है । साथ ही ट्रैफिक में भी तैनात की जाने की आशंका है।

Back to top button